• May 01 2017

पोर्टेबल शेल्टर की ओर बढ़ते चीनी कदम

लड़ाकू विमानों को ढकने के लिए दुनिया भर में अब पोर्टेबल शेल्टर का इस्तेमाल किया जाने लगा है। कैसे उपयोगी होते हैं ये ढांचे?

USAF, China, Portable, shelter
स्रोत: पापास डोस/सीसी बीवाई 2.0

विमानों के पोर्टेबल शेल्टर का दुनिया भर की वायु सेनाएं इस्तेमाल करती रही हैं और खास तौर पर अमेरिका तो इस लिहाज से काफी आगे रहा है। 9/11 के बाद जब अमेरिकी वायु सेना (यूएसएएफ) अफगानिस्तान पहुंची तो ऐसे कई पोर्टेबल शेल्टर वहां देखे गए। आज के समय में मध्य पूर्व और यूरोप के बहुत से देश अपने विमानों को हर मौसम से सुरक्षित रखने के लिए इनका इस्तेमाल कर रहे हैं। ये कपड़े के शेल्टर उन्हें दुश्मन के जासूसी उपग्रहों की नजर में आने से भी बचाते हैं। खास तौर पर किसी दूसरी जगह पर चलाए जा रहे अभियान के दौरान ये ना सिर्फ सस्ते पड़ते हैं, बल्कि इन्हें स्थायी शेल्टर की तुलना में जल्दी खड़ा भी किया जा सकता है।

हाल के समय में चीन को भी शिनजियांग के केशगर एयरपोर्ट पर कपड़े के स्थायी शेल्टर का ट्रायल करते पाया गया है। अक्तूबर 2016 की एक तस्वीर में इसे देखा जा सकता है। यह हैंगर 30 मीटर चौड़ा और 60 मीटर लंबा है।

1

नवंबर 2014 की तस्वीर से प्रतीत होता है कि इसका उपयोग कम से कम दो विंगलोंग-1 मध्य ऊंचाई लंबी क्षमता (एमएएलई) यूसीएवी को ढकने के लिए किया जा रहा है। ट्रायल के दौरान विमानों को जिस तरह दो साल तक इसमें ढक कर रखा गया है, उससे लगता है कि ये स्थायी प्रवृत्ति के हैं।

2

यह जानना दिलचस्प होगा कि यूसीएवी का संभवतः अधिकतम ऊंचाई और अधिकतम क्षमता के लिहाज से भी परीक्षण हो रहा था। उन पर ग्राउंड कंट्रोल स्टेशन (जीसीएस) और अन्य सहयोग-वाहनों के जरिए नजर रखी जा रही थी।

3

ऐसे ही हैंगर बीजिंग के नानयूआन एयरबेस में भी देखे गए। यहां नवंबर 2016 में इनका निर्माण हो रहा था। यह एयेरबेस 34वें ट्रांसपोर्ट डिवीजन के वीआईपी बेड़े और विशेष टोही विमानों को रखने की जगह है। लगता है कि ये शेल्टर निर्माण के दूसरे चरण में हैं जहां कंप्रेस किए गए एल्यूमीनियम स्ट्रक्चर को भी देखा जा सकता है।

4

सितंबर 2016 की तस्वीर दिखाती है कि इस अड्डे पर एल्यूमीनियम पोल के संभावित उपयोग की तैयारी की जा रही है। अन्य ढांचों की तैयारी को भी तस्वीरों में देखा जा सकता है।

5

लगता है कि मोड्यूलर कंस्ट्रक्शन का फायदा यह रहा होगा कि इसे तैयार करने और हटाने दोनों में ही आसानी होती है। मूल ढांचा कंप्रेस किए गए एल्यूमीनयिम एलोय (हल्का, स्टेनलेस और टिकाऊ) का प्रतीत होता है जिस पर कपड़े का कवर चढ़ाया गया है। नानयुआन में अलग-अलग आकार में की जा रही तैयारियों को देख कर लगता है कि ये फैब्रिक शेल्टर विभिन्न आकारों के विमानों के लिए तैयार किए जा सकते हैं।

इन फैब्रिक शेल्टर के ट्रायल के लिए केशगर को संभवतः इसलिए चुना गया होगा ताकि यह देखा जा सके कि शिनजियांग में मौसम की जो कड़ी मार पड़ती है, उसे यह कितना झेल पाता है। शिनजियांग की सर्दियां और गर्मियां दोनों ही बेहद मुश्किल होती हैं और इस दौरान बहुत तेज गति की हवा, बर्फ और सर्वाधिक यूवी प्रभाव के साथ सूर्य मौजूद होता है। लगता है कि इन शेल्टर को बड़े स्तर पर आजमाने के लिए नानयूआन इसलिए चुना गया क्योंकि यह वीआईपी एयरक्राफ्ट को रखने की जगह है।

चीन की पीएलएएएफ की हर मौसम में सुरक्षा प्रदान करने वाले ऐसी पोर्टेबल विमान शेल्टर की तेजी से बढ़ती जरूरत इसकी वैश्विक महत्वाकांक्षा को भी दर्शाती है।

ये लेखक के निजी विचार हैं।

Comments

avatar
wpDiscuz

ORF हिन्दी
से फेसबुक पर जुड़े

संबंधित

  • आईएसआईएसः एक सोच और उसका अमल

  • शी की नई रणनीति के भारत के लिए क्या निहितार्थ हैं

  • बेल्ट एंड रोड के जरिए वैश्विक शक्ति का ‘नया चीनी युग’

  • मर्केल और मीडिया

  • अकादमिक जगत बन रहा है चीनी प्रभाव के विस्तार का माध्यम